श्रमिक स्पेशल ट्रेन से GRP ने उतारे दो शव


बलिया। पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल के मंडुवाडीह स्टेशन पर 27 मई 2020 की सुबह तीन श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का आगमन हुआ। तीनों ट्रेन लोकमान्य तिलक टर्मिनल से आयी, जिससे  कुल 4294 प्रवासी श्रमिक पहुंचे। उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग के साथ गाड़ियों से उतारकर जिला प्रशासन के सहयोग से भोजन, अल्पाहार के पैकेट, पानी की बोतलें तथा फ्रूट जूस दिया गया।  मंडल चिकित्सालय की मेडिकल टीम द्वारा थर्मल स्क्रींनिग करायी गयी। 

श्रमिकों को कतारबद्ध करने मेडिकल जाँच एवं अन्य प्रबंधन हेतु रेलवे सुरक्षा बल के 15, राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) के 12 तथा राज्य पुलिस के 40 जवान मुस्तैदी से तैनात किये गए थे। श्रमिक स्पेशल के समुचित प्रबंधन हेतु राज्य सरकार के प्रतिनिधि के रूप में प्रशासनिक जिलाधिकारी/नगर, उप जिलाधिकारी, अपर जिलाधिकारी नगर आपूर्ति, जिला ट्रांसपोर्ट अधिकारी /वाराणसी  तथा रेलवे के तरफ से मुख्य वाणिज्य निरीक्षक/मांडुवाडीह, मुख्य वाणिज्य निरीक्षक/वाराणसी, प्रभारी रेलवे सुरक्षा बल/मांडुवाडीह एवं यातायात निरीक्षक/मांडुवाडीह, सीनियर सेक्शन इंजीनियर/पी वे/पावर/टेलीकॉम , वाणिज्यिक विभाग के 10 कर्मचारी, टेलीकाम विभाग के 02 कर्मचारी , विद्युत विभाग के 06 कर्मचारी तथा कैरेज विभाग के 04 कर्मचारी तैनात थे।

लोकमान्य तिलक टर्मिनल से मंडुवाडीह गाड़ी सं 01770 श्रमिक स्पेशल जो प्रातः 8:21 बजे मांडुवाडीह पहुंची, इसमें राजकीय रेलवे पुलिस को दो व्यक्ति मृत मिले। स्टेशन अधीक्षक ने जिला एवं रेलवे प्रशासन को अवगत कराया। मंडल चिकित्सालय से चिकित्सक मांडुवाडीह पहुंचे और मृतकों की जांच की। पता चला कि मृत श्रमिक पहले से गंभीर बीमारियों से ग्रस्त थे। मृत घोषित करने के उपरांत उन्हें राजकीय रेलवे पुलिस को अग्रिम कार्यवाही हेतु सुपुर्द कर दिया गया। 

श्रमिक स्पेशल के एस-15 कोच में मिला पहला मृतक 30 वर्षीय दिव्यांग दशरथ प्रजापति पुत्र जगन्नाथ, ग्राम-पुरालाल थाना-बदलापुर जिला जौनपुर का निवासी है, जबकि दूसरा मृतक 63 वर्षीय राम रतन गौड़ पुत्र स्व रघुनाथ ग्राम-शरहदपार पोस्ट-हाजीपुर थाना- रौनापार जिला आजमगढ़ का निवासी था। जीआरपी चौकी प्रभारी मांडुवाडीह बीएस यादव के अनुसार मृतकों के परिजनों को बुलाया गया है और पोस्टमार्टम के बाद शव उनको सुपुर्द कर दिया जाएगा। 

Post a Comment

0 Comments