वेबिनार के समापन पर शिक्षा महानिदेशक ने शिक्षकों को दिया यह संदेश, बलिया को भी मिली खुशी


लखनऊ। राज्य शैक्षिक तकनीकी संस्थान उत्तर प्रदेश व एजुलीडर्स यूपी द्वारा आयोजित 10 दिवसीय वेबिनार आधारित ऑनलाइन नेतृत्व क्षमता विकास कार्यशाला के समापन पर शिक्षा महानिदेशक विजय किरन आनंद ने प्रदेश के 250 शिक्षकों को संबोधित किया। उन्होंने प्रदेश के राष्ट्रपति पदक प्राप्त शिक्षक डॉ. सर्वेष्ट मिश्र के स्वप्रेरित व टेक्नोसेवी शिक्षकों के समूह 'एजुलीडर्स यूपी' का Video लांच कर इस अभियान की तारीफ किया।

शिक्षा महानिदेशक ने कहा कि वर्तमान में शिक्षक टेक्नोसेवी बने हैं। शिक्षण प्रशिक्षण प्रक्रिया में तकनीक का प्रयोग कर बच्चों व स्वयं को गुणवत्ता शिक्षा देने व लेने का प्रयास कर रहे है। उन्होंने कहा कि देश के असली निर्माता शिक्षक हैं। शिक्षा में सर्वाधिक निवेश करके ही किसी समाज का विकास होता है। उन्होंने एसआईईटी उत्तर प्रदेश व टीम एडुलीडर्स द्वारा Lockdown के दौरान किए गए ऑनलाइन शिक्षण व प्रशिक्षण के प्रयासों की सराहना की। कहा कि जिस तरह से इन शिक्षकों ने चुनौती को अवसर में बदला है, वह प्रशंसनीय है। 

कहा कि वर्तमान सरकार ने स्कूलों की आधारभूत संरचना, स्मार्ट क्लासरूम, रिमेडियल टीचिंग, ऑनलाइन, शिक्षकों की तैनाती, दीक्षा एप के प्रयोग तथा गैर शैक्षणिक कार्यों से शिक्षकों को मुक्ति देते हुए नए सत्र से स्कूलों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा पर पूरी तरह बल दिया है। रियल टाइम मानिटरिंग व्यवस्था लागू की है, ताकि मार्च 2022 तक प्रदेश प्रेरक प्रदेश बन सके। उन्होंने शिक्षकों का आह्वान किया कि वह समाज के कमजोर व सर्व समाज के बच्चों हेतु गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को सर्वसुलभ बनाएं।

शिक्षक स्वप्रेरणा से करें नेतृत्व : एसआईईटी निदेशक

एसआईईटी की निदेशक सुश्री ललिता प्रदीप ने कहा कि अब समय आ गया है कि शिक्षक स्व प्रेरणा से अपने स्कूलों और अपने पूरे समुदाय का नेतृत्व करें। वर्तमान समय में शिक्षकों के कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि प्रत्येक जनपद में एसआईईटी व एजुलीडर्स टीम द्वारा इस तरह के ऑनलाइन कार्यक्रमों के आयोजन के लिए सभी जनपदों के बीएसए व डायट प्राचार्य को पत्र निर्गत किए जा रहे हैं। शीघ्र ही सभी जनपदों में इस तरह ऑनलाइन वेबीनार कार्यक्रमों के माध्यम से स्व प्रेरित शिक्षक एसेसमेंट, लीडरशिप, आईसीटी जैसे शिक्षक प्रशिक्षणों से जुड़ सकेंगे।

डॉ. सर्वेष्ट मिश्र ने दी जानकारी

एजुलीडर्स टीम के संयोजक और राष्ट्रपति पदक प्राप्त शिक्षक डॉ. सर्वेष्ट मिश्र ने डेढ़ महीनों में लॉकडाउन के दौरान प्रदेश के सभी 75 जनपदों में एजुलीडर्स समूह के गठन व कार्यों के बारे में जानकारी दी। उनके द्वारा शिक्षको व बच्चों हेतु संचालित ऑनलाइन कार्यक्रमों का विस्तृत विवरण प्रस्तुत किया।इससे पूर्व न्यूपा नई दिल्ली की वरिष्ठ विशेषज्ञ डॉ चारु स्मिता मलिक ने स्कूल लीडरशिप के सभी सातों मुख्य क्षेत्रों के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए शिक्षकों के प्रश्नों के जवाब भी दिए। 

ऑनलाइन परीक्षा

पूरे प्रदेश से स्कूल लीडरशीप कार्यक्रम पूरा कर चुके शिक्षको ने ऑनलाइन परीक्षा दी और सभी को एसआईईटी निदेशक ललिता प्रदीप द्वारा प्रमाण पत्र प्रदान किए गए।

इनका रहा विशेष योगदान

कार्यक्रम में न्यूपा नई दिल्ली की विशेषज्ञ डॉ चारु मलिक, आस्ट्रिलयन काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च की अनुराधा शर्मा, एमिटी यूनिवर्सिटी की प्रो जयन्ती श्रीवास्तव, कोलकाता यूनिवर्सिटी की प्रो सुदेशना लहरी, बीएसए बस्ती अरुण कुमार, ओएनजीसी के विषेषज्ञ डॉ पंकज  श्रीवास्तव, वाराणसी डायट प्राचार्य उमेश शुक्ल, एससीईआरटी प्रवक्ता डॉ प्रदीप जायसवाल, डायट आजमगढ़ के प्रवक्ता डॉ आशुतोष श्रीवास्तव, विशेषज्ञ के रूप में सत्यजीत द्विवेदी, विनीत पंवार, सौरभ शुक्ला, वीरेंद्र, नीलम पंकज, डॉ अनिता मुदगल, डॉ अम्बिकेश त्रिपाठी, श्वेता सोमवंशी, भुजवीर सिंह, नरेंद्र तिवारी, निशा सिंह, विमल आनंद, शिवानी सिंह, वर्षा श्रीवास्तव, शशिकांत शुक्ल ने योगदान दिया।

बलिया से 13 शिक्षकों ने किया प्रतिभाग

दस दिवसीय वेबिनार में बलिया जनपद से 13 अध्यापक /अध्यापिकाओं ने प्रतिभाग किया। अंतिम दिन आयोजित ऑनलाइन परीक्षा देकर 60% से अधिक अंक प्राप्त कर रंजना पाण्डेय, प्रतिमा उपाध्याय, अर्चना कुमारी, नन्द लाल शर्मा व रामप्रकाश सिंह प्रशस्ति पत्र प्राप्त करने में सफल हुए। सफल अध्यापक/अध्यापिकाओं को  विजय किरण आनंद (शिक्षा महानिदेशक बेसिक) व राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार प्राप्त शिक्षक डॉ.सर्वेष्ट मिश्रा ने शुभकामनायें व बधाई दी। 

Post a Comment

0 Comments