बलिया : 8.5 लाख दवा व्यापारियों की जीत पर BCDA अध्यक्ष ने कही ये बात


बलिया। AIOCD ने दृढ़ता से 8.50 लाख सदस्यों के माध्यम से सरकार को यह अवगत कराया था कि आरोग्य सेतु एप का मतलब आम जनता को पास के किसी भी कोरोना पॉज़िटिव व्यक्ति की उपस्थिति से सावधान करने का संकेत देना है न कि अवैध व्यापार को बढ़ावा देना। इसमें सरकार ने ई-फार्मेसी के अवैध विपणन को बढ़ावा देने के लिए बैकडोर एंट्री दी है। इससे देश के सभी केमिस्टों में ऑल इंडिया ऑर्गनेशन ऑफ केमिस्ट्स एंड इगिस्ट्स ने अपनी दिल्ली यूनिट RDCA की यूनिट साउथ केमिस्ट्स एंड डिस्ट्रीयस एसोसिएशन (SCDA) द्वारा लगायी गयी रिट डब्ल्यूपी (सी) 2020 क्रमांक 3139 को दिल्ली उच्च न्यायालय में न्यायमूर्ति नवीन चावला की खंडपीठ द्वारा आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम सुनवाई की गयी।

इसकी जानकारी देते हुए BCDA के जिलाध्यक्ष आनंद सिंह ने बताया कि रिट याचिका आधिकारिक मोबाइल एप्लिकेशन 'आरोग्य सेतु' के साथ वेबसाइट "http://www.aarogyasetumitr.in" को जोड़ने के खिलाफ थी, क्योंकि यह अत्यधिक भेदभावपूर्ण, अवैध और मनमाने तरीके से कार्यरत वेबसाइट "http://www.arogyasetunmitr.in हैं,  जो केवल ई-फार्मेसी व्यापार के लिए एक साधन के रुप में प्रचार और सहयोग का कार्य करता है। ई-फार्मेसी कानून के तहत अवैध हैं। माननीय न्यायालय दवारा पारित आदेश के बावजूद ये अपना काम करना जारी रखे हुए हैं।

रिट याचिका में प्रार्थना की गई थी कि यह 'आरोग्यसेतु' या इसके सामान किसी भी भ्रामक नाम का उपयोग गलत तरीके से चुनी गई संस्थाओं के वाणिज्यिक हितों को प्रायोजित करने के लिए गलत उपयोग नहीं किया जा सकता है तथा इस वेबसाइट http://www.aarogyaseturmit.in को तुरंत बंद कर दिया जाए।

29 मई 2020 की सुनवाई में केंद्र सरकार के लिए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल सुश्री मनिंदर आचार्य ने स्वीकार किया कि केंद्र सरकार ने अब आरोग्य सेतु मोबाइल एप्लिकेशन से वेबसाइट http://www.aarogyasetumitr.in को डी-लिंक कर दिया है। कोई भी व्यक्ति जो आरोग्य सेतु मोबाइल एप्लिकेशन का उपयोग कर रहा है, उसे अब वेबसाइट का लिंक नहीं मिल रहा है।

आरोगग्य सेतु से अवैध ई फार्मेसी के लिंक को पोर्टल से सरकार को डी लिंक करने से भारत के लगभग साढ़े आठ लाख दवा व्यापारियों के विजय पर बलिया के दवा के व्यापारियों ने सत्य की जीत बताते हुए खुशी व्यक्त किया। अध्यक्ष आनन्द कुमार सिह ने केमिस्टहित में संजीदा व तत्परता हेतु शीर्ष नेतृत्व के प्रति आभार प्रकट किया गया।


Post a Comment

0 Comments