जेल में सड़ रहा हूं, जज साहब बेल दे दो...


नई दिल्ली। उत्तर पूर्वी दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act ) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (National Register of Citizens) के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन के दौरान फरवरी माह में हुई हिंसा के दौरान पुलिसकर्मी पर बंदूक तानने वाले आरोपित शाहरुख पठान (Delhi shooter Shahrukh) की जमानत याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली पुलिस का जवाब मांगा है।

हिंसा के आरोपित शाहरुख ने कोरोना वायरस के खतरे के बीच जेल में ज्यादा भीड़ होने का हवाला देकर जमानत देने की मांग की है। इसे पर न्यायमूर्ति संजीव सचदेवा की पीठ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से याचिका पर सुनवाई करते हुए जांच अधिकारी से मामले पर बुधवार तक जवाब मांगा है। आरोपित शाहरुख की इस जमानत याचिका पर अगली सुनवाई बुधवार को होगी।

सोमवार को अधिवक्ता असगर खान एवं अब्दुल ताहिर खान ने शाहरुख पाठन की तरफ से पेश होते हुए कहा कि शाहरुख के खिलाफ मामला दर्ज करने में दो दिन की देरी की गई। वहीं, शाहरुख ने यह भी कहा कि वह एक महीने से जेल में सड़ रहा है।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भडकी हिंसा के दौरान शाहरुख ने सिपाही दीपक दहिया पर बंदूक तान दी थी। बाद में शाहरुख को उत्तर प्रदेश के शामिली जिले से गिरफ्तार किया गया था और उसके पास से बंदूक भी बरामद की गई थी। पुलिस ने शाहरुख के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी। 

बता दें कि दिल्ली में 24-25 फरवरी को हुई हिंसा के दौरान शाहरुख ने दिल्ली पुलिस के जवान पर ही पिस्टल तान दी थी, लेकिन उसने चलाई नहीं। 
वहीं, उत्तर पूर्वी दिल्ली में दो दिन तक चली हिंसा के दौरान 70 से अधिक लोगों की मौत हो गई, जबकि सैकड़ों लोग घायल हुए। जान गंवाने वालों में इंटेलिजेंस ब्यूरो अंकित शर्मा का अधिकारी भी था। इस मामले में आम आदमी पार्टी के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन फिलहाल जेल में बंद हैं।  

Post a Comment

0 Comments