Breaking News
Home » अपनी बात » लोकपर्व और लोकतंत्र का ट्रायल : घाटों पर दिखें गांवों के उदीयमान ‘सूरज’

लोकपर्व और लोकतंत्र का ट्रायल : घाटों पर दिखें गांवों के उदीयमान ‘सूरज’

#लोकपर्व और लोकतंत्र का ट्रायल

उदीयमान सूर्य को अर्घ्य के साथ लोकपर्व #छठ का समापन हुआ। गांव से शहर तक उत्साह दिखा। गीतों के माधुर्य और पटाखों के शोर में एक और खास चीज ध्यान खींच रहा था। जी हां, गांव के उदीयमान #सूरजों का चेहरा। दरअसल, लोकपर्व के लिए तैयार पिच पर लोकतंत्र के महापर्व का ट्रायल होता दिखा।

यूपी में 2020 में पंचायत चुनाव होना है। परधानी से लेकर जिला पंचायत तक के दावेदार अपना बाज़ार बनाने में जुटे है। वैसे तो महीनों से ब्रांडिंग चल रही है, लेकिन शनिवार की शाम और रविवार को भोर का नज़ारा शानदार रहा। हालांकि छठ से पहले पूजन सामग्री के वितरण में भी तमाम लोग आगे बढ़कर खुशियां बांटते रहे।

दशहरा के पहले से ही गांवों में बड़े-बड़े पोस्टर और बैनर त्योहारी सीजन की अगवानी कर रहे थे। तमाम गांवों में एक तरह से संभावितों की फेहरिश्त बन चुकी है। हालांकि अभी आरक्षण क्लियर नहीं हुआ है। फिर भी दावेदारी शुरू है। सुख- दुख में भागीदारी और सुबह- शाम खैरियत पूछना भी शुरू हो चुका है।

छठ घाट पर संभावितों की सक्रियता दिखी। लगभग सभी गांवों में एकाध परिवारों को छोड़कर सार्वजनिक घाट ही बने थे। वहां सभी वर्ग लोग सपरिवार पहुंचे। फिर शायद ही इससे बेहतर कोई जगह मिले। संभावितों ने मौके का फायदा भी उठाया। व्रतियों की सेवा-सहायता के साथ परिवार को लुभाने में जुटे रहे।

धनंजय पांडेय वरिष्ठ पत्रकार की फेसबुक वाल से

Share With :
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel

About Poonam ( चीफ इन एडीटर )

चीफ इन एडीटर

Check Also

छठ आते ही बलिया के इस पत्रकार को याद आया बचपन का पुआ

#छठ वाला पुआ… बिहार-यूपी का महान पर्व छठ अगले हफ्ते हैं। घर से लेकर बाजार …

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.