Breaking News
Home » अपनी बात » तरस आ रही है, ‘कहां गया जमाना-कहां आ गए हम’

तरस आ रही है, ‘कहां गया जमाना-कहां आ गए हम’

जमाना बदल गया। अपनो को मजबूत करने की बजाय कमजोर करना ही हम बुद्धिमता समझते हैं। तरस आ रही है। कहां गया जमाना। कहां आ गए हम। एक समय था जब चार भाई में एक भाई को गांव, समाज, रिश्तेदारी को संभालने के लिए गांव पर रख दिया जाता था। जबकि पहले के अपेक्षाकृत बहुत कुछ परिवार में भरा है। बस एक कमी त्याग की है। त्याग की भावना न रहने से हम अपनों को छोड़ते चले जा रहे हैं।

“क्या यही संस्कार हमें मिला, गरीबी में एक साथ भोजन किये हैं”

संस्कार की बात करें तो परिवार जितना में था शिक्षा, संस्कार देने में कोई कमी नही किया। उसे हम संभालने में असमर्थता जता रहे हैं। जो बहुत बड़ी भूल हो रही है। गरीबी में माता – पिता, भाई-बहन, चाचा-चाची एक साथ बैठकर भोजन किये। सूखी रोटी में नमक सरसों का तेल चुपड़ी कर, ईमली के चटनी के साथ भी रोटी भोजन किया गया। बड़ा ग्लास में लाल चाय मिल जाय उसमें बासी रोटी भी तोड़ कर खाने में आनंद आता था। यह सब हम भूल जा रहे हैं।

“बदलाव हो लेकिन इतना नही”

जमाना बदला है हम भाई, बहन, रिश्ते तो नही बदले हैं। बदलाव हो लेकिन इतना बदलना मेरी समझ से उचित नही है। मनुष्य के तन में जन्म लेकर आये हैं कुछ करने के लिए आये हैं ताकि न रहने पर भी लोग नाम लें। बहुत दर्द होता है जब अतीत की बातें हम भूल कर वर्तमान में चल रहे हैं। पेशा से पत्रकार हैं। लोग कहते होंगे बहुत बड़े लेखक बन रहे हैं। बिल्कुल कहना चाहिये। फेसबुक के जमाने में इतना तो जरूर हो गया है कि अपनी बात आप तक शेयर कर सकते हैं। अगर गलत होगा तो प्रतिक्रिया भी जरूर आएगी।

“अपनो से धोखा क्यों”

समाज में विकृत मानसिकता ऐसी झलक रही है कि हम सबको तोड़ना चाहती है। बड़े ही आसानी से बोल दिया जाता है कि धोखेबाज, आखिर ऐसा कोई क्यों करेगा। अगर आपके साथ कोई अपना है तो किस बात के लिए धोखा देगा। जब हम सुधरेंगे निश्चित ही सुधार होगी।

नरेन्द्र मिश्र वरिष्ठ पत्रकार, बलिया

Share With :
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel

About Poonam ( चीफ इन एडीटर )

चीफ इन एडीटर

Check Also

एहसान का दिखावा न करें साहब ! सरकार ने जो दिया है वही हमें दें

प्रयागराज से लेकर बलिया जनपद तक गंगा नदी का कहर क्या रहा। सब को पता …

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.