Breaking News
Home » बेबाक साहित्य धारा » ‘संकल्प’ के आंगन सजीं साहित्यिक पाठशाला, प्रेमचंद रहे केन्द्र विन्दु और…

‘संकल्प’ के आंगन सजीं साहित्यिक पाठशाला, प्रेमचंद रहे केन्द्र विन्दु और…

बलिया। प्रोफेसर यशवंत सिंह ने प्रेमचंद बीसवीं सदी के प्रतिनिधि भारतीय कथाकार है। यह भारतीय जनता के मुक्ति संग्राम के सबसे बड़े चितेरे हैं। संकल्प साहित्यिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्था द्वारा प्रेमचंद जयंती की पूर्व संध्या पर संकल्प के मिश्र नेवरी स्थित कार्यलय पर आयोजित गोष्ठी में मुख्य वक्ता प्रोफेसर यशवंत सिंह ने कहा कि उनका साहित्य सामंतवादी पूंजीवादी तंत्र के शोषण उत्पीड़न से त्रस्त किसानों मजदूरों दलितों और स्त्रियों की मुक्ति की कामना तथा संघर्ष का जीवंत दस्तावेज भी है।

अध्यक्षीय सम्बोधन में वरिष्ठ कवि एवं साहित्यकार डॉ. जनार्दन राय ने कहा कि प्रेमचंद की रचनाओं से गुजरे बिना आजादी के पूर्व के हिंदी समाज और उसके मिजाज को ठीक से नहीं समझा जा सकता। उस समय की धड़कनें उनके साहित्य में सुनाई पड़ती हैं। डॉ. श्रीपति यादव ने कहा कि प्रेमचंद की कहानियां सामाजिक सरोकारों से जुड़ी हुई है। पर्यावरणविद् डॉ. गणेश पाठक ने कहा कि प्रेमचंद आज भी ना सिर्फ सर्वाधिक लोकप्रिय, बल्कि सर्वाधिक पढ़े जाने वाले कथाकार है। युवा कहानीकार असित मिश्र ने कहा कि प्रेमचंद का साहित्य संवेदनाओं से भरा है। समाज में संवेदनशीलता बचाए रखने के लिए प्रेमचंद की रचनाओं से जुड़ना जरूरी है। वरिष्ठ पत्रकार अशोक जी ने कहा कि प्रेमचंद की रचनाएं मानवता की पक्षधर हैं। पं. ब्रजकिशोर त्रिवेदी, डा़ इफ्तखार खान, संजय मौर्य, विवेक मिश्रा ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

महफिलों में ही मुझे देखा हो जिसने हर घड़ी…

संकल्प द्वारा आयोजित कार्यक्रम में वरिष्ठ कवि और शायर शशी प्रेम देव ने ‘महफिलों में ही मुझे देखा हो जिसने हर घड़ी, क्या पता उस आदमी को किस कदर तनहा हूं मैं’, श्री शिवजी पांडे रसराज ने ‘अब निक लागे ना घरवो दुआर, बताई हम का केहू से मन भावे ना हटवो बाजार’, डॉ. कादंबिनी सिंह ने ‘न जाने कर गया कितने सितम बस यह दिखाने में सितमगर है नहीं मुझ सा कोई बेहतर जमाने‘ गजल सुनाया। डॉ. राजेंद्र भारती व श्रीमती शालिनी श्रीवास्तव ने प्रेमचंद को समर्पित काव्य पाठ किया। संकल्प के रंग कर्मियों जनगीत से महान कथाकार नमन किया। सोनी, ट्विंकल, आनंद कुमार चौहान, अर्जुन, मुकेश, अखिलेश, रोहित उपस्थित रहे। संचालन सचिव आशीष त्रिवेदी ने किया।

Share With :
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel

About Poonam ( चीफ इन एडीटर )

चीफ इन एडीटर

Check Also

रक्षाबंधन का मजा दोगुना कर देंगे प्यार से भरे ये मैसेज

बलिया। 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के दिन ही रक्षाबंधन का त्योहार भी मनाया जाएगा। भाई-बहन …

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.