Breaking News
Home » बलिया » बलिया : बाहरवाली के प्यार में घरवाली की हत्या, ऐसे खुला राज

बलिया : बाहरवाली के प्यार में घरवाली की हत्या, ऐसे खुला राज

चितबड़ागांव, बलिया। नगवा गार्इं गांव में 14 जून 2018 को नव विवाहिता को गुमशुदा दिखाकर लाश को ठिकाने लगाने के मामले का चितबड़ागांव पुलिस ने पर्दाफाश किया है, वह भी कोर्ट के दबाव में। 11 माह पहले घटित इस मामले में पुलिस ने लल्लन राजभर पुत्र रामेश्वर राजभर, अच्छेलाल राजभर पुत्र रामेश्वर, सुरेंद्र पुत्र लल्लन, स्वामीनाथ पुत्र लल्लन तथा पार्वती पत्नी लल्लन को गिरफ्तार कर चालान न्यायालय कर दिया।

नगवा गाईं निवासी स्वामीनाथ राजभर की शादी 27 अप्रैल 2018 को गाजीपुर जनपद के मोहम्मदाबाद थाना क्षेत्र अंतर्गत कठऊत गांव निवासी श्याम जीत राजभर की पुत्री प्रतिभा से हुई थी। शादी के 10 दिन के बाद प्रतिभा ने अपने मायके वालों से बताया कि उसके पति का संबंध पहले से ही उसकी भाभी की छोटी बहन से था। वह शादी भी उसी से करना चाहता था, लेकिन स्वामीनाथ के माता-पिता अपनी बहू के चाल-चलन व रवैये से आजीज आ चुके थे।

इसलिए उसकी छोटी बहन से अपने पुत्र का विवाह नहीं करना चाहते थे। इसी बीच प्रतिभा का रिश्ता स्वामीनाथ के माता-पिता के पास आया और उन्होंने सहर्ष स्वीकार कर लिया। शादी भी कर ली, लेकिन स्वामीनाथ राजभर अपनी पत्नी प्रतिभा से कोई संबंध नहीं रखना चाहता था। मानसिक तथा शारीरिक रूप से उसे प्रताड़ित करता रहता था। प्रतिभा मौका पाकर अपने पति के मोबाइल से ही अपने पिता-माता और मायके वालों से बात कर लिया करती थी। 12 जून को जब प्रतिभा के पिता ने गुजरात से उसके पति के मोबाइल पर सम्पर्क करना चाहा तो कई बार प्रयास के बाद भी बात नहीं हो सकी।

13 जून को प्रतिभा के पिता श्याम जीत ने गुजरात से दूसरी मोबाइल से संपर्क किया तो स्वामीनाथ ने फोन रिसीव किया और उसने मोबाइल टॉवर न होने का बहाना बनाया। साथ में यह भी बताया कि आप की लड़की घर से भाग गई है। संदेह के आधार पर पिता श्यामजीत बेटी प्रतिभा के ससुराल पहुंचे। उन्हें इधर-उधर से पता चला कि उसकी पुत्री की हत्या करके लाश ठिकाने लगा दी गई। मायके वालों ने चितबड़ागांव थाने पर प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करानी चाही, लेकिन पुलिस ने मामला गुमशुदगी का बताया।

एसपी के निर्देश पर दर्ज हुआ था मुकदमा
चितबड़ागांव थाने का चक्कर लगाकर थक चुके प्रतिभा के माता-पिता ने एसपी से शिकायत की, तब 27 जुलाई 2018 को प्रतिभा की माता बिंदा देवी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज हुआ। मायके वालों ने पुलिस को लाश ठिकाने लगाने की जगह पर खुदाई कराने के लिए पुलिस से निवेदन भी किया, लेकिन पुलिस ने कदम नहीं बढ़ाया।

फिर मामला पुलिस अधीक्षक के यहां पहुंचा। पीड़ित माता-पिता ने एसपी से बताया कि 12 मई 2018 से एक हफ्ते तक का स्वामीनाथ के मोबाइल का काल डिटेल निकलवाने पर हकीकत सामने आ सकती है। इस दौरान पीड़ित पक्ष ने एसपी को कुछ साक्ष्य भी दिया।

माता-पिता को जगी न्याय मिलने की आस
प्राप्त काल डिटेल से पता चलता है कि घटना वाली रात स्वामीनाथ की मोबाइल से 80 बार संबंध स्थापित किया गया था, वह भी 3 घंटे के अन्दर। जब मायके वालों ने उस लड़की को जिसकी मोबाइल से हत्या के विषय में अडियो रिकर्डिंग प्राप्त हुई थी, पूछताछ के लिए थाने पर बुलाने के लिए निवेदन किया तो सीओ सदर ने मायके वालों को चितबड़ागांव थाने भेज दिया।

वहां थाना प्रभारी ने पीड़ित पक्ष से कहा कि लाश कहा गाड़ी गयी है? चलो दिखाओ, हम खुदाई कराते हैं। इस तरह पीड़ित पक्ष भटकता रहा। इससे आहत पीड़ित परिवार हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर दिया, तब पुलिस सर्किय हुई है।

Share With :
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel

About Poonam ( चीफ इन एडीटर )

चीफ इन एडीटर

Check Also

बलिया : सर्पदंश से किशोरी और बालिका की मौत

नगरा, बलिया। थाना क्षेत्र के पडरी गांव की चौहान बस्ती की एक किशोरी की मौत …

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.