Home » धर्म-कर्म » बलिया में बोले सतश्री महाराज-इच्छाओं की वृद्धि दुख का कारण

बलिया में बोले सतश्री महाराज-इच्छाओं की वृद्धि दुख का कारण

बलिया। नगर के रामलीला मैदान में सूरत, गुजरात स्वामी नारायण मंदिर के प्रमुख संत पूज्यनीय सतश्री महाराज ने वाल्मिकी रामायण कथा के दूसरे दिन कहा कि महर्षि वाल्मिकी ने ब्रह्मा जी एवं नारद जी की प्रेरणा से वाल्मिकी रामायण की रचना की। इसका पहली बार वाचन लव-कुश ने किया। इसमें रामजी के आदर्श एवं प्रेरणादायी चरित्र का वर्णन है।

कहा कि जिस राज्य का राजा अच्छा होता है, उस राज्य की प्रजा भी सुखी होती है। राजा खराब होगा तो प्रजा दुखी होगी। कहा कि समाज में जिस किसी को जिम्मेदारी मिलती है वह पूरी लगन से करें। क्योंकि परमात्मा किसी-किसी को जब लायक समझता है, तभी जिम्मेदारी का काम देता है। समाज की भलाई के लिए कार्य करने वाला अमर हो जाता है। उसकी कृति युगों-युगों तक गायी जाती है।

कहा कि प्रभु की भक्ति का पाठ पढ़ाने के साथ देशभक्ति का पाठ पढ़ाना भी साधुओं का धर्म है। कथा के दौरान भगवान राम का जन्मोत्सव हुआ। कहा कि दुख का कारण इच्छाओं की वृद्धि करना है। जवाहर लाल पाठक, शमीम अंसारी, विजय प्रकाश पाण्डेय, अंजनी लाल चौबे, घनश्याम पाण्डेय, राजू मिश्र, रामनाथ सिंह, विनोद सिंह, जयराम सिंह, संदीप पाण्डेय, विंध्याचल राय, बागी राय, काशीनाथ पाण्डेय आदि मौजूद रहे।

Share With :
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel

About Poonam ( चीफ इन एडीटर )

चीफ इन एडीटर

Check Also

बलिया : लाठी-डंडा लेकर ग्रामीणों ने किया पुलिस का पीछा, फिर…

मनियर, बलिया। मनियर थाना क्षेत्र से सटे बिहार प्रांत के मनियर दियरा टुकड़ा नंबर एक …

error: Content is protected !!
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.