Breaking News
Home » अपनी बात » बदलती सियासत का अंत

बदलती सियासत का अंत

तकरीबन पांच साल पहले स्कूटी पर सवार एक शख्स की तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई। देखते ही देखते तस्वीर पूरी तरह छा गयी थी। वह तस्वीर थी गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की। जिस वक्त हम यह मान चुके थे कि सियासत की डिक्शनरी से सादगी शब्द हट चुका है, इस तस्वीर ने देश के करोड़ों लोगों को उम्मीद दिखाई थी। साफ-सुथरी छवि और सादगी की बदौलत देश के छोटे राज्य का मुख्यमंत्री राष्ट्रीय चेहरा बना, तो बेहद खुशी हुई।

जून 2013 में पीएम कैंडिडेट के रूप में नरेंद्र मोदी का खुले तौर पर समर्थन करने वाले बड़े बीजेपी नेताओं में उनका नाम था। गोवा में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के दौरान पर्रिकर ने कहा था कि मैं आम जनता के संपर्क में रहता हूं, जो मोदी को पीएम उम्मीदवार बनाने के पक्ष में है। इसी कार्यकारिणी के दौरान मोदी को बीजेपी प्रचार समिति का अध्यक्ष बनाया गया था और उनकी पीएम उम्मीदवारी का रास्ता साफ हुआ था। यही नहीं पीएम बनने के बाद मोदी ने सबसे पहले गोवा का ही आधिकारिक दौरा किया था।

मोदी सरकार ने पर्रिकर को रक्षा मंत्री बनाकर देश को एक तरह से भरोसा दिलाया कि सरकार देशहित में पूरी तरह ईमानदार है। गोवा के साथ आज उत्तर प्रदेश भी मर्माहत है। गोवा ने मुख्यमंत्री खोया, तो हमने भी अपना राज्यसभा सांसद खो दिया है। राष्ट्रीय राजनीति में पर्रिकर के आने बाद वे लोग भी बहुत आशान्वित थे, जो बरसों से राजनीति की सेवा में पूरी ईमानदारी से लगे थे। शायद पर्रिकर के निधन से भारतीय राजनीति में जो शून्य बना है, उसकी भरपाई असंभव है।

विनम्र श्रद्धांजलि

धनंजय पांडेय, प्रभात खबर मुजफ्फरपुर

Share With :
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel

About Poonam ( चीफ इन एडीटर )

चीफ इन एडीटर

Check Also

बेलगाम बोल का भयावह शक्ल

बेलगाम बोल व बदमिजाज कार्यप्रणाली कितना भयावह शक्ल अख्तियार कर सकती है, यह सुभासपा के …

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.