Home » राष्ट्रीय खबरें » बलिया-सियालदह एक्सप्रेस से 50 नरकंकाल बरामद, एक तस्कर गिरफ्तार

बलिया-सियालदह एक्सप्रेस से 50 नरकंकाल बरामद, एक तस्कर गिरफ्तार

छपरा/बलिया। पूर्वोत्तर रेलवे के छपरा जंक्शन पर मंगलवार को राजकीय रेलवे पुलिस ने डाउन बलिया-सियालदह एक्सप्रेस ट्रेन से 50 नर कंकाल बरामद किया है। साथ ही अंतरराष्ट्रीय स्तर के एक तस्कर को गिरफ्तार कर लिया। नर कंकाल को उत्तर प्रदेश के बलिया जिले से लाया जा रहा था और उसे भूटान के रास्ते चीन ले जाने की योजना थी। इस मामले में गिरफ्तार व्यक्ति से पूछ ताछ की जा रही है और उसके पास से मिले मोबाइल का काल डिटेल्स खंगाला जा रहा है. इस आशय की जानकारी रेल पुलिस उपाधीक्षक मो तनवीर ने मंगलवार की शाम को छपरा जंक्शन रेल थाना में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में दी। उन्होंने बताया कि बरामद नर कंकाल का उपयोग तांत्रिक करते थे और इसे ऊंचे दामों पर बेचा जाता है। गिरफ्तार तस्कर के पास से दो पहचान पत्र, विभिन्न बैंकों के एटीएम, 2450 रुपये, भूटानी मुद्रा, आदि बरामद किया गया है. गिरफ्तार तस्कर का नाम संजय प्रसाद है. जिसके पास से एक पहचान पत्र मिला है जिस पर बिहार के मोतिहारी जिले के पहाड़पुर का पता दर्ज है, वहीं दूसरे पहचान पत्र पर न्यू जलपाइगुड़ी बंगाल का पता है. बरामद किए गये 50 कंकाल में 16 खोपड़ी (सिर) तथा 34 शरीर के अलग अलग अंग के पार्ट है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश से शराब लाने वाले तस्करों के खिलाफ जांच अभियान चलाया जा रहा था। इसी क्रम में जीआरपी को यह सफलता हाथ लगी। उन्होंने बताया कि छपरा जंक्शन पर जब ट्रेन खड़ी थी, उसी समय पूछ ताछ काउंटर के सामने ट्रेन के कोच से बरामद किया गया. इसके बाद एक टीम का गठन किया गया. टीम में थानाध्यक्ष सुमन प्रसाद सिंह, सअनि लक्ष्मण प्रसाद सिंह, पीटीसी वाहिद अली, सुनिल कुमार शामिल थे। मामला सामने आने के बाद टीम ने उत्तर प्रदेश के बलिया जाकर इसकी जांच की है। उन्होंने बताया कि यह अंतरराष्ट्रीय गिरोह है और जीआरपी के लिए यह महत्वपूर्ण उपलब्धि है। उन्होंने बताया कि बरामद नर कंकाल का उपयोग तांत्रिक के अलावा और किस काम में होता था। यह भी जांच का विषय है। नर कंकाल के साथ गिरफ्तार तस्कर के अनुसार चीन के लोग मानव की हड्डी का इस्तेमाल पूजा करने के लिए करते हैं। आशंका यह भी है कि नरकंकाल का इस्तेमाल मेडिकल कॉलेज में पढ़ने वाले छात्रों के द्वारा की जाती है जिसके लिये ले जाया जा रहा था। बताया जाता है कि मेडिकल कॉलेज में भी मानव अंगों-नर कंकालो का प्रयोग करने पर रोक लगा दी गयी है और इसके बदले में प्लास्टिक या फाइबर के बने नर कंकाल की आकृति का प्रयोग करना है। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार तस्कर से मिली सूचना के आधार पर छापेमारी की जा रही है। इसकी गहन जांच की जा रही है।

Share With :
Purvanchal24 welcomes you || For Advertisement on purvanchal24 Call on 9935081868
Purvanchal24 Welcomes You
Do Not Forgot to subscribe Purvanchal24 Youtube Channel

About Poonam ( चीफ इन एडीटर )

चीफ इन एडीटर

Check Also

Kumar Vishwas In Ballia : मोहब्बत एक एहसासों की पावन कहानी है…

बलिया। ‘मैं अपनी गीत गजलों से, उसे पैगाम करता हूं… उसी की दौलत उसी के …

error: Content is protected !!