Breaking News
Home » अपनी बात » बलिया के सूर्यभान सिंह ने लिखी ‘मन की बात’

बलिया के सूर्यभान सिंह ने लिखी ‘मन की बात’

गरीब, किसान, बेरोजगाराें एवं स्वास्थ्य, शिक्षा, सड़क, बिजली, पानी, कानून व्यवस्था जस का तस। किसानाें की पीड़ा पर कोई ठोस कार्यवाही अब तक नहीं हुई। आज भी सरकारी स्कूलाें में मानक के अनुरूप शिक्षक/कर्मचारी नहीं है। गुणवत्ता पूर्ण पढ़ाई नहीं है। कोई भी अच्छी सुविधा नहीं है। साढ़े चार साल के कार्यकाल में सरकारी स्कूलाें में आपने क्या निर्णय लिया? इस मुद्दे पर भी आप फेल साबित हुए। सड़क का हाल पूर्ववर्ती सरकार से भी बदतर हो गया है। गॉव के लोग आज भी आर्सेनिक पानी पीकर बीमारी का शिकार हो रहे है।

प्रधानमंत्री जी आपसे कार्यकर्ताआें को बड़ी उम्मीद थी कि आप व्यवस्था को जरूर बदलेंगे, किन्तु एेसा नहीं हो पाया। आपकी नीतियों से भाजपा के कुछ कार्यकर्ता भी नाराज है। उपेक्षित कार्यकर्ता का सम्मान आवश्यक है। भले ही आप सत्ता के लिए जनता के बीच में कानून व्यवस्था ठीक होने का दावा कर रहे है, लेकिन सच्चाई जनता बयां करती है।

यदि आप देश को स्वच्छ बनाना चाहते है तो देश एवं प्रदेश की उच्च सदन में आप जैसा सेवक सत्ता के लिए अपराधियाें को टिकट शायद नहीं दे सकता है। स्वच्छता को सबसे पहले सदन में आवश्यकता है। कब तक नेता जनता को मूर्ख बनायेंगे। हर चीज का अन्त होता है। पूर्ववर्ती सरकाराें ने भी यह गलती की थी, जिसका हिसाब समय आने पर जनता ब्याज सहित चुकता कर दी।

देश में कोई भी पार्टी सत्ता हासिल करने के लिए भ्रष्टाचार का मुद्दा बड़ी जोरो से उठाती है, आपने भी उठाया था। लेकिन भ्रष्टाचार दूर करना शायद कोई नहीं चाहता। आप देश के एक उम्मीद वाले सेवक थे। आपने कभी सोचा कि हमारे ऊपर करोडाें जनता
का विश्वास जगा है? इसे कायम कैसे रखा जाय? एेसा न होने से यह जरूर कहॅूगा कि देश तब आजाद हुआ, जब आजादी के दिवानों ने बगैर लोभ, लालच के जान की कुर्बानी दी। संघर्ष किया, लेकिन वर्तमान लोभ लालच के चंगुल में फंसा नजर आ रहा है।

यदि सुख सुविधा सदन के नेताआें का खत्म कर दिया जाता तो कोई भी गरीब, शोषित, किसान, बेरोजगार की बात नही करता। सरकारी सुविधा, पेंशन नही दी जायेगी, क्योकि वह अपने स्वेच्छा से समाज का सेवा करने के लिए पद हासिल किया है न कि सुख सुविधा के लिए। आपसे जनता को बड़ी उम्मीद थी कि आप जैसा प्रधानमंत्री, देश में कुछ नया करके दिखायेगा, लेकिन न देश का इतिहास बदला न भूगोल। जनता जहॉ पहले थी वहॉ पर आज भी है। मैं आपसे विनम्र आग्रह करूंगा कि आप देश की सेवा के लिए सादगी जीवन जीकर जनता की सेवा करे। बगैर सरकारी सुख सुविधा के रहे, तब शायद भ्रष्टाचार दूर हो।

जनता सबकाे सदन तक जीताकर इसलिए भेजती है कि सारा नियम कानून जनता पर बने, लेकिन ऐसा होता नहीं दिखा। इसका मतलब है कि नेता जैसा आजाद कोई नही होता है। जब मन करे कुछ भी बोल दे आैर मुकर जाये, लेकिन इस पर कोई पाबंदी नहीं है।

भारत के सर्वोच्च ने एससी/एसटी एक्ट में सुधार किया तो राजनीतिक लाभ के लिए सर्वोच्च न्यायालय का आदेश ही पटल दिया गया। न्यायालय की गरिमा का भी ख्याल नहीं रखा गया। यदि यही काम कोई जनता करती तो सारा नियम कानून उस पर लागू हो जाता। आप सब सत्ता में आकर राजनीतिक लाभ लेने के लिए उसी सर्वोच्च न्यायालय के भरोसे राम मन्दिर का निर्माण छोड़ दिये कि सर्वाेच्च न्यायालय जो फैसला करेगा, उसके अनुरूप काम होगा। स्वार्थ एवं सत्ता की कुर्सी के लिए अन्य पार्टियाें की तरह आपने भी जनता का भरोसा तोड़ दिया। केन्द्र आैर उत्तर प्रदेश में आपकी सरकार है, लेकिन फिर भी सदन से राम मन्दिर निर्माण का निस्तारण न करके न्यायालय के भरोसे छोड़े है। इसका मतलब साफ है कि देश की जनता को मुर्ख समझा जा रहा है।

चुनाव में बेरोजगारी दूर करने की बात कही गयी, लेकिन सत्ता की कुर्सी पर बैठकर आप पकौड़े बेचने की सलाह दे रहे हैं। यदि हमारे देश व प्रदेश के मुखिया सादगी जीवन जीकर जनता की सेवा करने में सफल नहीं है या त्याग करने की भावना नहीं है तो फिर अपने आपको ईमानदार कहना आैर देश से भ्रष्टाचार खत्म करने की बात करना
सरासर गलत है।

आप जनता की मूलभूत समस्या शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, पानी, सड़क, कानून व्यवस्था को दुरूस्त करें आैर कराये। छोटी व बड़ी सदनाें में अपराधिक प्रवृत्ति के लोगों की इंद्री रोकें। सदन के सदस्याें की सरकारी सुविधा खत्म कर दी जाये। यह कार्य कठिन है, लेकिन आप ईमानदार व जनता के सेवक है तो आपके लिए सम्भव भी है।

यह मेरे मन की बात है। उम्मीद है कि आप जैसा जनता का ईमानदार सेवक इस पर निश्चित ही कुछ सार्थक पहल करेगा। मेरे पत्र का जबाब मुझे और देश को भी मिलना चाहिए।

सूर्यभान सिंह

समाजसेवी जयप्रकाश नगर, विधान सभा बैरिया, बलिया (उ.प्र.)

Share With :
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel

About Poonam ( चीफ इन एडीटर )

चीफ इन एडीटर

Check Also

आप भी जानें, फूलों के रास्ते धरती पर उतरता है बसंत

बसंत पंचमी, बसंत ऋतु की शुरुआत है। इस समय प्रकृति अपने सौंदर्य के शिखर पर …

error: Content is protected !!
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.